शामभवी शाही, नई दिल्ली: Uttarakhand Election 2022: हाल ही में भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) छोड़ कर नेताओं का समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) में दाखिल होने का सिलसिला बिलकुल जोरों शोरों से चला आ रहा था। हालांकि यह सिलसिला अब भी जारी है लेकिन केवल भारतीय जनता पार्टी में ही नहीं बल्कि अन्य बहुत सी पार्टियों में। खबर आ रही है कि उत्तराखंड की कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और नैनीताल से पूर्व विधायक सरिता आर्य (Sarita Arya) अब कांग्रेस (Congress) का साथ छोड़ कर भाजपा (BJP) का हाथ थामने जा रही हैं।

सरिता आर्य ने शनिवार को को कांग्रेस के कार्यालय में यह बात कही की “अभी तो मैं कांग्रेस में हूं… लेकिन आगे का पता नहीं” यह बात बोलते हुए ही उन्होंने कांग्रेस को बड़ी चेतावनी दे दी थी। उन्होंने कहा की वह अपने जीवन में किसी भी तौर पर बाध्य नहीं हैं। कांग्रेस के लिए यह चुनाव से पहले बहुत बड़ा झटका साबित हो रहा है। सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक (Madan Kaushik) ने सरिता आर्य को भाजपा की सदस्यता दिलवाई इस दौरान वहां पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) के साथ साथ भाजपा के अन्य सदस्य भी मौजूद थे। इतना ही नहीं, सरिता आर्य के साथ ही कांग्रेस की उत्तराखंड प्रदेश उपाध्यक्ष रेखा बोरा गुप्ता (Rekha Bora Gupta) और वंदना गुप्ता (Vandana Gupta) ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है। कांग्रेस ने सरिता आर्य, रेखा बोरा गुप्ता और वंदना गुप्ता से सारे पद छीन लिए हैं और छह साल के लिए निष्काषित कर दिया है।

उत्तराखंड में विधानसभा 2022 के चुनाव केवल एक चरण में पूरे हो जाएंगे और यह चुनाव 14 फरवरी 2022 को होगा। 14 फरवरी में उत्तराखंड में मतदान डाले जाएंगे और इन मतों की गणना 10 मार्च को बाकी चार राज्यों (Punjab, Uttar Pradesh, Goa, Manipur) के मतों की गणना के साथ ही होगी।

ये भी पढ़े:PUNJAB ELECTION 2022: चुनावों की तारीख टली, अब 20 फरवरी से होंगे चुनाव…

Leave a comment

Your email address will not be published.