नई दिल्ली: AFGHANISTAN LATEST NEWS: अफगानिस्तान में एक बार फिर से तालिबान कि खतरनाक वापसी हो चुकी है। रविवार को तालिबान ने जबरन काबुल पर कब्जा कर लिया है। इसके बाद ही देश के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग चुका है। भारत समेत अन्य देशों के लोग जो तालिबान के कारण अफगानिस्तान में फसें है, अब उनको निकालने के प्रयास किए जा रहे है। इसके लिए कई विमानों ने उड़ान भरी और भारत कि पहली फ्लाइट ने कल सुबह ही लैंड किया है।


राजधानी काबुल कि एक फैक्ट्री में करीब 18 लोग फंसे है । जो कर्मचारी फंसे हुए हैं, उनमें से कुछ लोग एक महीने पहले ही वहां गए थे जबकि कई कुछ महीने पहले आए थे। जो भारतीय कर्मचारी फंसे हैं, वो काबुल की एक स्टील कंपनी में काम करते हैं और एक न्यूज एजेंसी से वहां के लोगो ने अपना दर्द बयां किया। फंसे हुए लोगो का कहना है कि वह अपनी कंपनी में सूरक्षित है इसी के साथ कंपनी ने उनके पासपोर्ट रख लिया है और वहां से उन्हे जाने नहीं दिया जा रहा है। और उनका कहना है कि सरकार की उनकी मांग है कि उन्हे वहां से निकाला जाए।

https://twitter.com/rezahakbari/status/1427417641128452098


कंपनी में फंसे 18 लोगो में भारत के उत्तर प्रदेश के भी लोग शामिल है। इन कर्मचारियों में एक उत्तर प्रदेश के चंदौली के रहने वाले शक्स का कहना है कि उनकी भारत सरकार से मांग है कि उन्हे किसी भी तरह वहां से निकाला जाए और उनकी वतन वापसी कराई जाए क्योंकि घर पर उनके परिजन उनके लिए परेशान है और रो रहे है।

काबुल में फंसे हुए इन कर्मचारियों ने बताया कि कंपनी ने उनका पासपोर्ट रख लिया है और वो वापस नहीं देना चाहती है। इनमें से अधिकतर लोग उत्तर प्रदेश के हैं जो गाजियाबाद, गाजीपुर, चंदौली और अन्य इलाकों से संबंध रखते है। आपको बता दें कि अफगानिस्तान में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए सरकार द्वारा कोशिशें की जा रही है। सोमवार और मंगलवार को अफगानिस्तान में वायुसेना का विशेष विमान भेजा गया, जिसके जरिए भारतीयों को निकालने की कोशिशें की जा रही हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.