देश में कोरोना कि दूसरी लहर खत्म होने के कगार पर है, पर फिर से चीन घुसपैठ करने के लिए तैयार है। हाल ही के दिनों में चीन ने भारत के सीमा के समीप युद्ध अभ्यास किया है। और अब भारत के सीमा पर चीनी सेना की गतिविधियां तेज हो गई है। जिससे भारतीय एजेंसी चौकन्ना हो गई है। आपको बता दें कि , चीन ने जिस जगह युद्ध अभ्यास किया है। यह वही एयरबेस है जिससे पिछले साल पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना ने अपने जवानों को मदद पहुंचाई थी।

सूत्रों के मुताबिक चीनी वायु सेना के 20 से अधिक लड़ाकू विमानों ने युद्ध अभ्यास में हिस्सा लिया। सूत्रों ने बताया कि, लद्दाख के नजदीक चीनी सीमा पर राफेल विमान को तैनात कर दिया है। और उसे चीनी सेना से निपटने के लिए तैयारी पूरी रखने को कहा गया है।

भारत लद्दाख में चीनी सीमा के नजदीक स्थित काशगर, होतान, नगारी गुन्सा, शिगात्से, ल्हासा गोंगकर, न्यिंगची और चमडो पंगटा एयरबेस पर नजर बनाए रखा है। भारतीय सेना को फॉरवर्ड एयरबेस को पश्चिमी और उत्तरी मोर्चे पर तैनात कर दिया है। और चीनी सेना से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा है।

चीनी सेना ने पिछले साल 10 मई 2020 को लद्दाख में घुसपैठ करने की कोशिश की थी। जिसका भारतीय सेना ने मुंह तोड़ जवाब दिया था ,और चीनी सेना को पिछले पांव से खदेड़ दिया था ।

Leave a comment

Your email address will not be published.