PM Kisan Yojana : केंद्र सरकार की ओर से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की अभी तक 12 किस्तें जारही हो चुकी हैं। इस स्कीम में लाभार्थियी किसानों को साल में तीन बार 2 हजार रुपये की किस्त मिलती है। 4 माह में यह किस्त जारी होती है। पीएम किसान योजना में पैसे उठा चुके हैं कुछ लाभार्थियों को झटका लगा है। किस्त पाने के बाद कुछ लाभार्थियों को सरकार ने अपात्र करार दिया है। इन लाभार्थियों को पीएम किसान से अब तक मिला सारा पैसा सरकार को वापस लौटाना होगा। ये लाभार्थियों या तो करदाता हैं या किसी दूसरे कारण से अपात्र साबित हुए हैं।

वापस लौटानी होगी रकम: PM Kisan Yojana

DBT एग्रीकल्चर बिहार की साइट के मुताबिक, आयकर जमा या दूसरे कारणों से पीएम किसान स्कीम के जरिए भारत सरकार के द्वारा जिन लाभार्थियों को आपात्र धोषित किया गया है। उन्हें इस स्कीम में अभीतक मिली सारी राशि वापस लौटानी होगी। आपात्र लाभार्थिी नीचे दिए गए खाते नंबर पर राशि वापस लौटा सकते हैं।

जमा करना होगा UTR:

लाभार्थियों को रिफंड के बाद UTR भी अनिवार्य रूप से सबमिट करना होगा। साइट में आगे बताया गया है कि आपको अपने कृषि सहायक या जिला कृषि अधिकारी को कॉडपी वापस जमा करानी होगी। फ्रॉड से सावधानी रखें औऱ किसी दूसरे खाते से राशि नहीं निकालें।

आपात्र लोगों की लिस्ट को इस प्रकार करें चेक:

  • सबसे पहले आपको https://dbtagriculture.bihar.gov.in/ पर विजिट करना होगा।
  • एप्लिकेशन स्टेटस में से ‘PM Kisan tax ineligible farmers’ पर क्लिक करना होगा।
  • अपना 13 अंकों का नंबर या मोबाइल नंबर भर करके सर्च क्लिक करें।

लिस्ट में गलत दर्ज हुआ नाम:

ऐसा हो सकता है कि किसी किसान को इनकम टैक्स के चलते अपात्र की लिस्ट में रख दिया गय़ा हो, लेकिन उसने इनकम टैक्स का भुगतान नही हो। तो इस प्रकार के मामले में किसान को 2017-18 से लेकर 2021-22 तक का ITR का अप्रूवल किसान सहायक को सबमिट करना होगा।

जरुर पढ़ें:- अब नही रहेगी नौकरी की टेंशन, इस बिजनेस से हर महीने होगी 1 लाख रुपये तक की कमाई, जानिएं कैसे करें शुरु

इन 5 टिप्स से बिजली का बिल आएगा आधे से भी कम, अपनाते ही दिखेगा असर

5,000 रुपये सस्ता मिल रहा है OnePlus का ये धाकड़ स्मार्टफोन, खरीदने के लिए लोगों की लाइन!