Petrol/Diesel Price: खुल गया पेट्रोल और डीजल पर लगने वाले टैक्स का राज, अब गिरेगी कीमत?

petrol-diesel-price

Petrol/Diesel Price: अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की गिरती कीमतों का एक फीसदी असर भी भारत में देखने को नहीं मिल रहा है। हालांकि अगर कीमतें बढ़ती हैं तो तुरंत देश के अंदर भी बढ़ोतरी हो जाती है। आइए जानते हैं ऐसा क्यों।

क्यों महंगा है पेट्रोल डीजल

देश में पेट्रोल डीजल की महंगाई के पीछे सबसे बड़ी वजह है इनपर लगने वाला टैक्स, पहले केंद्र सरकार उसके बाद राज्य सरकार, ये सभी मोटा टैक्स लेते हैं। इनके बाद बारी आती है तेल कंपनियों की, तेल कंपनियां ये कहकर चार्ज लगाती हैं की उन्हें भी सरकार को टैक्स देना होता है। इसके बाद डीलर्स और पेट्रोल पंप चार्ज भी होता है।

कितना लगता है टैक्स

रिपोर्ट के मुताबिक भारत सरकार पेट्रोल पर उसकी मूल कीमत का 20 फीसदी और डीजल पर 17.6% की एक्साइज ड्यूटी लेती है। ये 2022 के आंकड़े के आधार पर है। राज्य सरकार की बात करें तो पेट्रोल और डीजल पर इनकी ओर से लगने वाले टैक्स को वैट कहा जाता है। अलग-अलग राज्य के मुताबिक इसमें बदलाव भी होता है। पेट्रोल पर वैट 20 से लेकर 32 फीसदी तक है।

ये भी पढ़ें: Gas Price: गैस हुआ सस्ता, कीमत सुन आज ही बुक करेंगे दो सिलिंडर

टैक्स से पहले की कीमत

पेट्रोल और डीजल पर टैक्स लगने से पहले की कीमत बेहद ही कम है। एक रिपोर्ट के मुताबिक एक लीटर पेट्रोल की मूल कीमत 44.4 रुपये के आस-पास पड़ती है, जबकि डीजल 46 रुपये में मिलता है। इसके बाद शुरू होता है एक्साइज ड्यूटी और वैट का खेला।

क्या सस्ता होने जा रहा है तेल

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारत सरकार की ओर से जल्द ही तेल की कीमतों में कटौती की जाने वाली है, माना जा रहा है की प्रति लीटर के पीछे पांच रुपये तक की कमी देखने को मिल सकती है।

हर्ष पिछले 4 सालों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। मूल रूप से हर्ष गोरखपुर के रहने वाले हैं। हर्ष इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ साथ डिजिटल मीडिया का भी अनुभव रखते हैं फिलहाल समाचार नगरी में बिजनेस बीट पे काम कर रहे है। हर्ष बिजनेस के अलावा एंटरटेनमेंट, पॉलिटिकल, लेटेस्ट न्यूज, वायरल के साथ साथ धर्म बीट पर काम कर चुके हैं। इसके साथ ही हर्ष ने कई डिजिटल चैनल्स पर जमीन पर उतरकर रिपोर्टिंग भी की है।