Nitin Gadkari on Vehicle Scrapping Policy: केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितन डदकरी ने कहा कि सरकार ने पूरे देश के प्रत्येक जिलों में कम से कम तीन रजिस्टर्ड व्हीकल कबाड़ केंद्र ओपन करने की योजना बनाई है। गडकरी ने ACMA के सालाना कार्यक्रम में कहा कि सड़क मंत्रालय को रोपवे, केबल कार और फनिक्युलर रेलवे (Ropeway, Cable Car and Funicular Railway) के लिए 206 प्रस्ताव मिले हैं।

1 साल पहले शुरु हुई थी कबाड़ नीति: Vehicle Scrapping Policy

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सरकार प्रत्येक जिले में तीन रजिस्टर्ड व्हीकल कबाड़ सुविधा केंद्र खोल सकती है। इस नीति की शुरुआत बीते साल अगस्त में राष्ट्रीय वाहन नीति शुरु हुई थी। और कहा था कि ये बेकार हो चुके हैं। और प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों को सिस्टमेटिक तरीके से डिस्ट्रॉय करे में सहायता करेगा।

भारत ने अपनाए ग्लोबल सेफ्टी स्टैंडर्ड:

इसके अलावा नितिन गडकरी ने कहा कि देश में अधिकतर वाहन निर्माता पहले ही छह एयर बैग वाली कारों का निर्यात कर रहे हैं। उनकों देश में भी कारों के लिए इस प्रकार के सेफ्टी फीचर्स अपनाने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि व्हीकल निर्माताओं को छोटी सेफ्टी कारों का उपयोग करने वाले लोगों की सुरक्षा के बारे में सोचना चाहिए। गडकरी ने SCMA के सालाना सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक वर्ष करीब 5 लाख सड़क दुर्धटनाओं में 1.5 लाख लोगों की मौत होती है और तीन लाख लोग घायल होते हैं।

लोगों के जीवन का नही है विचार:

इसके बाद उन्होंने कहा कि अधिकतक व्हीकल निर्माता 6 एयर बैक वाली कारों का निर्यात कर रहे हैं लेकिन देश में आर्थिक लागत की वजह से झिझक रहे हैं। गडकरी ने इस बात पर आश्चर्य जताया कि व्हीकल निर्माता देश में सस्ती कारों का उपयोग करने वाले लोगो के जीवन के बारे में विचार नही कर रहे हैं। मंत्री ने कहा कि देश में दुर्धटना को कम करना वक्त की मांग है।

जरुर पढ़े:- चुटकियों में फुल चार्ज हो जाएगा Oppo का यह सस्ता Smartphone, डिजाइन देखकर- आशिक हो जाएंगे

Government Pension Scheme: लाखों पेंशनधारकों की होगी बल्ले-बल्ले! सरकर ने कह दी बड़ी बात

Royal Enfield को टक्कर देनें आ रही इस कंपनी की 4 बाइक्स, जानें कीमत और शानदार फीचर्स