10 लाख रुपये का Mudra loan, कम से कम ब्याज और शुरू कीजिए अपना बिज़नेस

mudra-loan

खुद का बिज़नेस शुरू करने की सोच रहे हैं और पैसे का इंतजाम नहीं हो पा रहा है तो भारत सरकार की “मुद्रा लोन” (Mudra loan) योजना काम आ सकती है। केंद्र सरकार की इस स्कीम के तहत आसानी से लोन मिल जाता है वो भी आम इंट्रेस्ट से काफी कम में। यानी की जिस ब्याजदर पर बैंक लोन देते हैं, उससे कम पर आप ऋण ले सकते हैं। आगे बढ़ने से पहले बता दें की मुद्रा योजना के अंतर्गत भी बैंक ही लोन देते हैं, लेकिन इसमें सरकार भी शामिल होती है।

मुद्रा लोन

मुद्रा योजना के तहत तीन श्रेणी में लोन दिया जाता है, पहली श्रेणी “शिशु” नाम से है। इसमें 50,000 रुपये तक का लोन बिना की गारंटी के मिल जाती है। दूसरी श्रेणी “किशोर” है। इसमें 50,000 से 5 लाख रुपये तक का लोन मिल जाता है। इसके लिए गारंटी मांगी जाएगी। तीसरी श्रेणी है “तरुण” इसमें पांच से दस लाख रुपये का लोन मिल जाता है।

ब्याजदर

मुद्रा योजना को लाने का मुख्य मकसद था की आम लोगों को कम से कम ब्याजदर पर लोन दिया जा सके। इस योजना के तहत जितने भी बैंक सम्बद्ध हैं, वो 7 से 12% का ब्याज लेते हैं। इसमें बैंक के अनुसार ब्याजदर में बदलाव भी हो सकता है। अप्रैल 2015 में शुरू हुई इस योजना से आजतक लाखों की संख्या में लोग जुड़ चुके हैं।

ये भी पढ़ें: 20 साल बाद आपके पास भी होगा 1 करोड़ रुपये का घर, शुरू करिए इतने की SIP

शिशु श्रेणी में आवेदन करने के लिए एक पेज का फॉर्म भरना होता है, जबकि किशोर और तरुण के लिए तीन पेज का फॉर्म भरना पड़ता है। ये पूरा प्रोसेस आपके बैंक से पूरा किया जा सकता है, इसके लिए बैंक जाकर ब्याजदर की जानकारी अवश्य प्राप्त करें।

हर्ष पिछले 4 सालों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। मूल रूप से हर्ष गोरखपुर के रहने वाले हैं। हर्ष इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ साथ डिजिटल मीडिया का भी अनुभव रखते हैं फिलहाल समाचार नगरी में बिजनेस बीट पे काम कर रहे है। हर्ष बिजनेस के अलावा एंटरटेनमेंट, पॉलिटिकल, लेटेस्ट न्यूज, वायरल के साथ साथ धर्म बीट पर काम कर चुके हैं। इसके साथ ही हर्ष ने कई डिजिटल चैनल्स पर जमीन पर उतरकर रिपोर्टिंग भी की है।