10,000 रुपये का मासिक निवेश बना 16.5 करोड़! जानिए किस कंपनी ने किया कारनामा

sip

म्यूच्यूअल फंड आज के समय के सबसे भरोसेमंद निवेश माध्यम बन चुके हैं, बड़ी संख्या में लोग इसकी ओर आकर्षित भी हो रहे हैं। आज एक ऐसी म्यूच्यूअल फण्ड कंपनी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने अपने इन्वेस्टर्स को करोड़ पति बना दिया है। चलिए जानते हैं क्या है पूरी खबर और कैसे आप भी म्यूच्यूअल फंड में इन्वेस्ट कर सकते हैं।

एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप

एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप म्यूच्यूअल फण्ड का नाम तो सुना ही होगा, ये भारत की सबसे पुरानी म्यूच्यूअल कंपनियों में से एक है और जिस अवधि की बात कर रहे हैं, तबसे लेकर अबतक इस कंपनी ने इन्वेस्टर्स को 150 फीसदी का रीटर्न दिया है। ये रिपोर्ट इकनोमिक टाइम्स में छपी है।

जिसमें बताया गया की एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप ने पिछले 29 साल में निवेशकों के पैसे को 150 फीसदी बढ़ा दिया है। अगर किसी ने 1995 में 10,000 रुपये SIP शुरू की होगी तो 2023 तक उसका कुल निवेश 34.80 लाख रुपये का हुआ होगा। इसमें अगर ब्याज जोड़ दें तो दिसंबर 2023 तक निवेशक को कुल 16.5 करोड़ रुपये का रीटर्न मिल जाएगा।

ये भी पढ़ें: भाई इस बार तो Royal Enfield ने कमाल ही कर दिया, Continental GT 650 की इस नई मॉडल देख लो एकबार

म्यूच्यूअल फण्ड

म्यूच्यूअल फण्ड निवेश का एक सिस्टमैटिक माध्यम होता है, इसमें मासिक और सालाना आधार पर निवेश किया जाता है। जिस भी म्यूच्यूअल फण्ड में आप निवेश करते हैं, वो कंपनी मिड, लार्ज और स्माल कैप फंड्स में निवेश करती है। एचडीएफसी फ्लेक्सी कैप भी ऐसे ही स्टॉक्स में इन्वेस्ट करती है। माना जा रहा है की इसमें निवेश की गई रकम सालाना, मासिक और छमाही आधार पर अलग-अलग रीटर्न देती है।

अगर आप भी ऐसे ही निवेश के बारे में सोच रहे हैं तो आज ही किसी जानकार स सलाह लीजिए, वो आपको सही कंपनी चुनने और निवेश की रकम के साथ रिस्क और रीटर्न की जानकारी देगा।

हर्ष पिछले 4 सालों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। मूल रूप से हर्ष गोरखपुर के रहने वाले हैं। हर्ष इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ साथ डिजिटल मीडिया का भी अनुभव रखते हैं फिलहाल समाचार नगरी में बिजनेस बीट पे काम कर रहे है। हर्ष बिजनेस के अलावा एंटरटेनमेंट, पॉलिटिकल, लेटेस्ट न्यूज, वायरल के साथ साथ धर्म बीट पर काम कर चुके हैं। इसके साथ ही हर्ष ने कई डिजिटल चैनल्स पर जमीन पर उतरकर रिपोर्टिंग भी की है।