Driving licence बनवाने की सोच रहे लोगों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब घर से ही…

driving-licence

Driving licence: किसी भी देश में गाड़ी चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस होना सबसे जरुरी है, लेकिन आज भी बड़ी संख्या में लोग बिना लाइसेंस के ड्राइविंग करते हैं। जिसकी वजह से कई बार फाइन भी भरना पड़ता है। शहरों में नियमित तौर पर गाड़ियों की चेकिंग होती है, जिसके आधार पर कोई कमी पाए जाने की स्थिति में चालान किया जाता है।

किसका बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस

भारत में ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए किसी की भी उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए। इससे कम उम्र होने पर आप लाइसेंस के लिए एप्लीकेशन नहीं भर सकते हैं। अगर आप कोई भारी वाहन जैसे ट्रेलर, ट्रक या ट्रांसपोर्ट गाड़ी चलाते हैं तो उसके लिए अलग से लाइसेंस टेस्ट देना होता है। साथ ही उम्र भी 18 से बढ़कर 20 वर्ष हो जाती है।

क्या है चालान का नियम

भारत में पहली बार बिना लाइसेंस के ड्राइविंग करते वक़्त पकडे जाते हैं तो एक से पांच हजार रूपए तक का चालान काटा जा सकता है। इसमें ड्राइविंग के तरीके के आधार पर चालान की रकम तय की जाती है। यानी की अगर आप गलत तरीके से ड्राइविंग करते हैं तो पांच हजार रुपये का चालान भी कट सकता है।

ये भी पढ़ें: Vande Bharat: दिल्ली-अयोध्या वंदे भारत निरस्त, जानिए फिर कब होगी शुरू

ड्राइविंग लाइसेंस प्रोसेस

ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आप खुद भी अप्लाई कर सकते हैं, एप्लीकेशन भरने के लिए parivahan.gov.in पर जाना होगा, वहां आपको सबसे पहले लर्निंग लाइसेंस के लिए अप्लाई करना होगा। लर्निंग लाइसेंस जारी होने से पहले एक ऑनलाइन टेस्ट देना होता है। इसमें पास होंगे तभी लर्निंग। इसके जारी होने के 30 दिन बाद आप मेन लाइसेंस के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

कैसे मिलेगा

फाइनल लाइसेंस के लिए टेस्ट देने में पास होने के कुछ दिन बाद ही पोस्ट ऑफिस के जरिए आपका लाइसेंस आपके एड्रेस पर भेज दिया जाता है। इस पूरी प्रक्रिया में 600 रुपये तक खर्च हो सकते हैं।

हर्ष पिछले 4 सालों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। मूल रूप से हर्ष गोरखपुर के रहने वाले हैं। हर्ष इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ साथ डिजिटल मीडिया का भी अनुभव रखते हैं फिलहाल समाचार नगरी में बिजनेस बीट पे काम कर रहे है। हर्ष बिजनेस के अलावा एंटरटेनमेंट, पॉलिटिकल, लेटेस्ट न्यूज, वायरल के साथ साथ धर्म बीट पर काम कर चुके हैं। इसके साथ ही हर्ष ने कई डिजिटल चैनल्स पर जमीन पर उतरकर रिपोर्टिंग भी की है।