Fix Deposit वालों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब पांच साल के निवेश पर मिलेगा छप्परफाड़ रीटर्न

fixed-deposit

सुरक्षित निवेश के मामले में एफडी (Fix Deposit) को पहले पायदान पर रखा गया है, पहले ये देखा जाता था की ग्रामीण भारत एफडी में ज्यादा विश्वास करता था, लेकिन अब ये ट्रेंड शहरों की ओर बढ़ रहा है। पिछले दिनों जारी हुई एक रिपोर्ट में बताया गया की अब युवा भी एफडी में निवेश कर रहे हैं, इसकी सबसे बड़ी वजह है निश्चित रीटर्न।

एफडी में एक निश्चित समय बाद रीटर्न मिलता है, अगर आप भी एफडी करवाने की सोच रहे हैं तो ये खबर पूरा पढ़िए। यहां हम बताने वाले हैं की कैसे एफडी करनी है और कितने समय पर कितना रीटर्न मिल सकता है।

कैसे होगी एफडी

एफडी करवाने के लिए सबसे पहले आपके पास बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में चालू खाता होना चाहिए, एफडी अकाउंट इसी से जुड़ा हुआ होगा। बाकी आप इस खाते से नार्मल ट्रांजैक्शन भी कर सकते हैं। एफडी में मिलने वाली ब्याजदरें दो प्रकार से होती हैं। जिसमें सीनियर सिटीजन के लिए अलग ब्याजदर और आम लोगों के लिए अलग ब्याजदर है।

ये भी पढ़ें: गुजरात के भरुच में 15 मेगावॉट का सोलर प्लांट लगाएगी ये कंपनी, रॉकेट बनकर भागे शेयर

ब्याजदर

ब्याजदरें बैंक के हिसाब से अलग हो सकती हैं, स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में एफडी करवाने पर 3 से लेकर 7.50 फीसदी तक का ब्याज मिल सकता है। कम से कम पांच साल की एफडी करने पर सीनियर सिटीजन को 7.25 और आम लोगों को 6.75 फीसदी का ब्याज मिलता है। जबकि यही निवेश अगर दस साल के लिए कर दिया जाए तो 7.50 (सीनियर सिटीजन) और आम लोग 6.50 तक का ब्याज प्राप्त कर सकते हैं।

इसमें समय के मुताबिक बदलाव भी हो सकता है, ज्यादा जानकारी के लिए नजदीकी बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में जा सकते हैं। खाता खुलवाने के लिए आधार कार्ड, फोटो, पैन कार्ड और मोबाइल नंबर की जरुरत पड़ने वाली है।

हर्ष पिछले 4 सालों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रहे हैं। मूल रूप से हर्ष गोरखपुर के रहने वाले हैं। हर्ष इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के साथ साथ डिजिटल मीडिया का भी अनुभव रखते हैं फिलहाल समाचार नगरी में बिजनेस बीट पे काम कर रहे है। हर्ष बिजनेस के अलावा एंटरटेनमेंट, पॉलिटिकल, लेटेस्ट न्यूज, वायरल के साथ साथ धर्म बीट पर काम कर चुके हैं। इसके साथ ही हर्ष ने कई डिजिटल चैनल्स पर जमीन पर उतरकर रिपोर्टिंग भी की है।