Senior TV Journalist dies due to Covid-19 Rohit Sardana passes away

Senior TV Journalist rohit sardana passes away

0
rohit sardana Rest in peace
Senior TV Journalist rohit sardana passes away

The veteran journalist had tested positive for Covid and was admitted to Metro Hospital on Thursday; he died of a heart attack today

रोहित फिलहाल आज तक न्यूज चैनल में कार्यरत थे। इससे पहले वह लंबे समय तक जी न्यूज का हिस्सा थे। जी न्यूज के एडिटर सुधीर चौधरी ने रोहित सरदाना के निधन की खबर ट्वीट की।

मशहूर न्यूज एंकर रोहित सरदाना को शुक्रवार को हार्ट अटैक से निधन हो गया। रोहित सरदाना कोरोना संक्रमण से भी जूझ रहे थे। इससे पहले उनकी मां भी कोरोना संक्रमित हुई थीं। रोहित वेंटिलेटर पर थे और संक्रमण अधिक बताया जा रहा था। रोहित फिलहाल आज तक न्यूज चैनल में कार्यरत थे। इससे पहले वह लंबे समय तक जी न्यूज का हिस्सा थे। जी न्यूज के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी ने रोहित सरदाना के निधन की खबर ट्वीट की।

सोशल मीडिया पर इस खबर के फैलते ही लोग सदमे में आ गए. कई लोगों को तो एक पल को यकीन ही नहीं हुआ कि रोहित अब हमारे बीच नहीं रहे. कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक बताया जा रहा है कि उनकी मौत हार्ट अटैक से हुई है और वो कोरोना से भी संक्रमित थे. यूजर्स ना सिर्फ इस दुखद खबर को एक दूसरे से शेयर कर रहे हैं बल्कि इस पर तरह-तरह के कमेंट और रिएक्शन भी दे रहे हैं. ट्विटर पर #RohitSardana नंबर 1 पर ट्रेंड कर रहा है. लोग नम आंखों से उन्हें अंतिम विदाई दे रहे हैं. रोहित सरदाना, भारत के सबसे ज्यादा पसंद किए जाने वाले, ऊर्जावान एंकर में से एक रहे हैं. रोहित ने डेढ़ दशक के अपने करियर में अपनी एंकरिंग से हिंदुस्तान के कोने-कोने में अपने नाम का परचम लहराया.

राजदीप सरदेसाई ने किया याद, जुनूनी एंकर पत्रकार थे रोहित सरदाना

एक अन्य ट्वीट में रोहित सरदाना को याद करते हुए राजदीप सरदेसाई ने लिखा है, ‘रोहित मेरे बीच राजनीतिक मतभेद थे, लेकिन हमने हमेशा बहस को एंजॉय किया। हमने एक रात एक शो किया था, जो 3 बजे समाप्त हुआ था। इसके समाप्त होने पर उन्होंने कहा था, ‘बॉस मजा आ गया।’ वह एक जुनूनी एंकर पत्रकार थे। ईश्वर आपकी आत्मा को शांति दे, रोहित सरदाना।’ सरदेसाई के अलावा कांग्रेस के सीनियर लीडर गुलाम नबी आजाद ने भी रोहित सरदाना को श्रद्धांजलि दी है।

सरदाना के पास मनोविज्ञान में कला स्नातक की डिग्री थी। 2000 से 2002 तक, सरदाना ने गुरु जम्भेश्वर विज्ञान और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय से जनसंचार में स्नातकोत्तर उपाधि प्राप्त करने के लिए अपना शैक्षणिक कार्य पूरा किया।

2004 से, सरदाना नेटवर्क के हिंदी भाषा कार्यक्रमों के लिए एक कार्यकारी संपादक, एंकर, समाचार प्रस्तुतकर्ता और होस्ट की क्षमता में ज़ी न्यूज़ के साथ था। वह आजतक में एक वरिष्ठ एंकर थे। सरदाना ने पूर्व में ईटीवी नेटवर्क और आकाशवाणी के साथ काम किया था।
उन्होंने आजतक पर दंगल (अनुवाद: अखाड़ा) नामक एक शो की मेजबानी की, जिसमें वाद-विवाद पैनल थे |
सरदाना ने पहले हिंदी-भाषा के उन समाचार कार्यक्रमों में कामक्षेत्र का निर्माण किया, जिनका प्राथमिक उद्देश्य भारतीय दर्शकों के लिए, भारत में राजनीतिक जवाबदेही की स्थिति के बारे में बताया गया था। कार्यक्रम का सवाल-जवाब प्रारूप सरदाना के साथ संसद सदस्यों (एमपी) पर केंद्रित है और अपने काम की एक विस्तृत रिपोर्ट का उपयोग करते हुए सांसद को चुनौती देता है। कार्यक्रम का अंतिम खंड 2014 के भारतीय आम चुनावों से पहले अपने संबंधित निर्वाचन क्षेत्र के लिए सांसद के काम पर एक विस्तृत "रिपोर्ट कार्ड" के साथ समाप्त होता है।

REST IN PEACE ROHIT SARDANA

by – Ritick Raj Patel

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here