दिल्ली सरकार ने सोमवार को Covid-19 महामारी में वृद्धि को रोकने के लिए संपूर्ण लॉकडॉन की घोषणा की। सोमवार रात से 26 अप्रैल की सुबह तक कर्फ्यू प्रभावी रहेगा।

लॉकडाउन की घोषणा करते हुए, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लॉकडाउन आवश्यक था क्योंकि शहर में Covid-19 संकट में बड़े पैमाने पर उछाल देखा गया है और आने वाले दिनों में स्वास्थ्य व्यवस्था खराब हो सकती है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को 23,000 के करीब मामले दर्ज किए गए। उन्होंने कहा, हर दिन लगभग 25,000 नए मामले दर्ज किए गए हैं। अरविंद केजरीवाल ने कहा, ‘अगर हम हर दिन कई Covid-19 मामलों की रिपोर्ट देते रहेंगे, तो मुझे डर है कि स्वास्थ्य सेवा ध्वस्त हो जाएगी।’

सीएम केजरीवाल ने कहा, “दिल्ली की स्वास्थ्य प्रणाली अपनी सीमा तक फैल गई है, तनाव में है। स्वास्थ्य व्यवस्था की गिरावट को रोकने के लिए सखती के उपाय करने होंगे।”

प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि आवश्यक सेवाएं, खाद्य सेवाएं, चिकित्सा सेवाएं जारी रहेंगी। उन्होंने कहा, “शादियों को केवल 50 लोगों की भीड़ के साथ आयोजित किया जा सकता है। इसके लिए अलग से पास जारी किए जाएंगे। जल्द ही एक विस्तृत आदेश जारी किया जाएगा।”

Leave a comment

Your email address will not be published.