74th Army Day 2022: क्यों मनाया जाता है भारतीय सेना दिवस?

Indian Army Day 2022

शामभवीशाही, नई दिल्ली: भारत आज अपना 74वां सेना दिवस (Army Day) मना रहा है। देश के उन सैनिकों को सम्मानित करने के लिए हर साल 15 जनवरी को सेना दिवस मनाया जाता है, जिन्होंने भारत की निस्वार्थ सेवा की है और भाईचारे की सबसे बड़ी मिसाल कायम की है। यह देश भर के लिए काफी गौरव की बात है कि भारतीय सेना विश्व के सबसे मजबूत और ताकतवर सेनाओं की सूची में चौथे स्थान पर है। 74 Army Day 2022

क्यों मनाया जाता है 15 जनवरी को सेना दिवस?

वैसे तो इंडियने आर्मी का गठन 1 अप्रैल 1895 को अंग्रेज सरकार द्वारा किया गया था लेकिन भारत में सेना दिवस 15 जनवरी को मनाया जाता है क्योंकि इस ऐतिहासिक दिन पर जनरल केएम करियप्पा (KM Cariappa) 1949 में भारतीय सेना की कमान संभालने वाले पहले भारतीय बने थे। उन्होंने जनरल सर फ्रांसिस रॉबर्ट रॉय बूचर (Francis Robert Roy Butcher) से पदभार संभाला जो की भारतीय सेना के अंतिम फिरंगी अफसर थे।

ये भी पढ़े: Indian Army Recruitment: आर्मी में निकली बंपर नौकरियां, जल्द ऐसे करें आवेदन


चूंकि यह अवसर भारतीय सेना के लिए बहुत ही बड़ा और महत्वपूर्ण था, इसलिए भारत में हर साल इस भव्य दिन को सेना दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया और तब से यह परंपरा जारी है। करिअप्पा फील्ड मार्शल की फाइव-स्टार रैंक रखने वाले केवल दूसरे भारतीय अधिकारी थे; पहले अधिकारी थे फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ (Sam Manekshaw) 1947 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान करियप्पा ने पश्चिमी मोर्चे पर भारतीय सेना का नेतृत्व किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here