पंजाब-हरियाणा-हिमाचल के स्कूलों में भी बढ़े केस, जहां एक तरफ देश के कई राज्यों में पाबंदियों को हटाया जा रहा है , तो वहीं कुछ राज्यों में कोरोना के मामलों की बढ़ती यंख्या चिंता का विषय बनती जा रही है। सबसे अहम बात यह है की स्कूल खुल जाने के कारण बच्चों पर Covid-19 महामारी को खतरा मंडरा रहा है, कर्नाटक के बेंगलुरू में ऐसे ही केस देखने को मिल रहे हैं।


देश में अभी तक कोरोना का कहर पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है, और दूसरी लहर भी अभी तक पूरी तरह खत्म नहीं हुई है कि तीसरी लहर ने दस्तक देना शुरू कर दिया है, जहां देश में एक तरफ लॉकडाउन में रियायतें दी जा रही हैं, वहीं दूसरी तरफ कुछ जगहों पर कोरोना के बढ़ते मामले चिंता का बढ़ा रहे हैं।

बेंगलुरू के स्कूलों में बच्चों पर कोरोना का कहर

कोरोना के घटते हुए मामलों को देखते हुए कई जगहों पर स्कूल और कॉलेज खोल दिए गए थे, कर्नाटक के बेंगलुरू में भी ऐसा ही हुआ, लेकिन हाल ही में जारी आंकड़ों से जो तस्वीर सामने आ रही है, वो डराने वाली है। यहां करीब 6 दिनों में 300 से अधिक बच्चे कोरोना पॉजिटिव आए हैं। बेंगलुरू जैसे बड़े शहर का यह आंकड़ा राज्य में सबसे तेजी से बढ़ता हुआ है। बेंगलुरू प्रशासन द्वारा जो नए आंकड़े दिए गए हैं, उनमें 0 से 9 साल के करीब 127 और 10 से 19 साल के करीब 174 बच्चे कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं, आपको बता दें यह आंकड़ा सिर्फ 5 से 10 अगस्त के बीच का है।

पंजाब और हरियाणा सहित कई राज्यों में हो रहे हैं बच्चे शिकार

अगर उत्तर भारत की बात करें तो यहां भी स्कूल कॉलेज खुलने के बाद कोरोना के बढ़ते प्रकोप का असर देखने को मिल रहा है। हिमाचल प्रदेस में करीब 63 बच्चे कोविड की चपेट में आ गे हैं। पंजाब में भी स्कूल के 27 बच्चे पॉजिटिव पाए गए हैं। हरियाणा के स्कूलों में भी कुछ छात्र कोविड पॉजिटिव मिले हैं।

स्कूलों में लगातार आ रहे कोरोना के मामलों के कारण सरकारें एक बार फिर सकते में आई हैं। अब हिमाचल प्रदेश ने 22 अगस्त तक स्कूल बंद करने की बात कही है। पंजाब सरकार की भी स्कूलों में सख्ती बढ़ाने की तैयारी है।

देश में केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु समेत कई जगहों से कोरोना मामलों के बढ़ने की कबर आ रही है, भारत में अभी भी कोरोना के 4 लाख के करीब एक्टिव केस हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.