ईरान के नागरिक उड्डयन संगठन (सीएओ) ने जनवरी 2020 को तेहरान के पास हुए विमान दुर्घटना मामले में अपनी अंतिम रिपोर्ट पेश कर दी है। इसमें इस दुर्घटना के पीछे ‘मानवीय त्रुटि’ को कारण बताया है। सीएओ ने बुधवार को अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित की गई 285 पन्नों की रिपोर्ट की भूमिका में कहा है, “तेहरान के पास एयर डिफेंस सिस्टम ने यूक्रेन के विमान को दुश्मन का एयरक्रॉफ्ट समझकर उस पर 2 मिसाइल दाग दिए थे।”

बता दें कि 8 जनवरी 2020 को यूक्रेन का विमान बोहरिंग -737 तेहरान से कीव जा रहा था तभी तेहरान के इमाम खुमैनी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से टेकऑफ करने के तुरंत बाद उस पर 2 रॉकेट दाग दिए गए थे। इस बड़ी दुर्घटना में सभी 167 यात्री और चालक दल के 9 सदस्यों की मौत हो गई थी। ये सभी विमान सवार यूक्रेन, ईरान, कनाडा, स्वीडन, अफगानिस्तान और यूके के नागरिक थे।

बाद में ईरान के सशस्त्र बलों ने पुष्टि की थी कि अनजाने में सैन्य मिसाइल दागे जाने के कारण यह दुर्घटना हुई। जुलाई 2020 में प्लेन के ब्लैक बॉक्स के ट्रांसक्रिप्ट से इस बात की पुष्टि हुई थी कि प्लेन के साथ अवैध हस्तक्षेप किया गया था।

सीएओ के निष्कर्षों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए यूक्रेन के विदेश मंत्री दमित्रो कुलेबा ने बुधवार को कहा कि रिपोर्ट के जरिए सही कारणों को छुपाना एक निंदनीय प्रयास था।

Leave a comment

Your email address will not be published.