केरल की 104 साल की महिला ने पास किया लिट्रेसी मिशन टेस्ट (literacy mission test)

0
Kerala 104 Year old women pass the literacy rate test

नई दिल्ली: हम सब के लिए शिक्षा सबसे आवश्यक है।शिक्षा प्राप्त करने की कोई उम्र नहीं होती। इस बात का उदहारण हमें केरला की महिला कुट्टियम्मा (kuttiyamma) ने दिया है। कुट्टियम्मा (kuttiyamma) की उम्र 104 वर्ष है। इन्होंने केरला स्टेट लिट्रेसी टेस्ट में 100 में से 89 अंक प्राप्त कीए। कुट्टियम्मा (kuttiyamma) अब पूरे विश्व के लिए एक मिसाल बन चुकी हैं।

ये भारत के लिए बहुत गर्व की बात है। आपको बता दें कि भारत के कई राज्य के हिस्सों में लड़कियों का स्कूल जाना भी प्रतिबंधित है। जहां उनकी शादी काफ़ी छोटे उम्र देश में करा दी जाती है। ऐसे देश में किसी महिला का इस उम्र में शिक्षा प्राप्त करना चौका देता है। कुट्टियम्मा (कुत्तियाम्म) भारत की महिलाओं के लिए एक प्रेरणा है। कुट्टियम्मा (kuttiyamma) उन लोगो के लिए भी एक प्रेरणा है जिन्होंने किसी वजह से अपनी पढ़ाई छोड़ दी है।

केरल के शिक्षा मंत्री वासुदेव शिवनकुट्टी ने ट्वीट कर कुट्टियम्मा (kuttiyamma) को बधाई दी।ट्वीट में उन्होंने लिखा कि
“कोट्टायम की 104 वर्षीय कुट्टियम्मा ने केरल राज्य साक्षरता मिशन की परीक्षा में 89/100 अंक हासिल किए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि उम्र कभी भी ज्ञान की दुनिया में जाने के लिए बाधा नहीं बन सकती है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here